23.5 C
Chandigarh

10 और 11 फरवरी 2024 को फिऱोज़पुर में होगा राज्य स्तरीय बसंत मेला

- Advertisement -spot_img

चंडीगढ़, 12 जनवरी:

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा राज्य के रिवायती और विरासती मेलों को देश-दुनिया में प्रात्साहित करने और इन मेलों के प्रति लोगों की रुचि को और अधिक बढ़ाने के लिए राज्य में शुरू किए गए मेलों की श्रृंखला के अंतर्गत 10 और 11 फरवरी 2024 को फिऱोज़पुर में शहीद भगत सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी में ‘‘सबसे बड़ा पतंगबाज़’’ विषय के अंतर्गत राज्य स्तरीय पतंगबाज़ी मुकाबले और बसंत मेला करवाया जा रहा है।  

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए पंजाब के पर्यटन एवं सांस्कृतिक मामलों संबंधी मंत्री मिस अनमोल गगन मान ने बताया कि फिऱोज़पुर का बसंत मेला धूम-धाम से मनाया जाता है, और मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा इस मेले को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रोत्साहित करने के लिए प्रयासशील है, जिसके लिए बसंत मेले के अवसर पर पतंगबाज़ी के मुकाबले करवाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा पतंगबाज़ी के मेले में भाग लेने के लिए रजिस्ट्रेशन और अन्य मेलों सम्बन्धी अधिक जानकारी के लिए वैबसाईट लॉन्च की गई है।  

कैबिनेट मंत्री मिस अनमोल गगन मान ने बताया कि इस मेले के दौरान अलग-अलग तरह की पतंगबाज़ी के मुकाबले होंगे और पहले स्थान पर आने वालों को लाखों रुपए के ईनाम दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पुरूषों के पतंगबाज़ी मुकाबलों में पहला स्थान हासिल करने वाले को 1 लाख रूपए का ईनाम दिया जाएगा और इसी तरह ही महिलाओं के पतंगबाज़ी मुकाबलों में पहला स्थान हासिल करने वाली विजेता को भी 1 लाख रूपए का ईनाम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 10 से 18 साल की उम्र वाले लडक़े-लड़कियों में से विजेताओं को 25-25 हज़ार रुपए के ईनाम दिए जाएंगे। इसके अलावा एन.आर.आई कैटेगरी पतंगबाज़ी मुकाबलों के विजेताओं को 51 हज़ार रुपए का ईनाम दिया जाएगा।  

उन्होंने बताया कि पतंगबाज़ी मुकाबलों में सबसे आकर्षित मुकाबला ‘‘सबसे बड़ा पतंगबाज़ मुकाबला’’ होगा और इस मुकाबले के विजेता को 2 लाख रुपए का ईनाम दिया जाएगा।  

उन्होंने कहा कि इन मुकाबलों में चाइना डोर का प्रयोग करने की पूर्ण पाबंदी है। पतंगबाज़ी मुकाबलों में भाग लेने वालों को अपना रजिस्ट्रेशन वैबसाईट www.kitefestivalferozepur2024.in  और 15 जनवरी से 25 जनवरी 2024 तक किया जा सकता है। इसके अलावा अलग-अलग मुकाबलों सम्बन्धी नियम और शर्तें भी इस वैबसाईट पर उपलब्ध हैं।  

इस मेले में रिवायती खान-पान के स्टॉल लगाए जाएंगे और लोक गायक अपने गीतों के द्वारा मेले का माहौल रंगीन बनाएंगे। उन्होंने राज्य निवासियों से अपील करते हुए कहा कि वह अधिक से अधिक इस मेले में भाग लें।  

मेले सम्बन्धी वैबसाईट लॉन्च करने के अवसर पर विभाग के परमुख सचिव राखी गुप्ता भंडारी, डिप्टी कमिश्नर फिऱोज़पुर राजेश धीमान और डायरैक्टर नीरू कटियाल भी विशेष रूप से उपस्थित थे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img