22.8 C
Chandigarh

लोक निर्माण मंत्री हरभजन सिंह ने जि़ला मोगा में सडक़ों की मरम्मत कार्य का नींव पत्थर रखा  

- Advertisement -spot_img

मोगा, 27 फरवरी:

 पंजाब सरकार द्वारा जि़ला मोगा के विकास को और अधिक बढ़ावा देते हुए 76 किलोमीटर से ज्यादा लंबाई वाली चार सडक़ों की मरम्मत का काम शुरू किया गया है। करीब 45 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली सडक़ों की मरम्मत का नींव पत्थर आज पंजाब के लोक निर्माण और बिजली विभाग के कैबिनेट मंत्री स. हरभजन सिंह ने रखा।  

 इस सम्बन्धी गाँव समाध भाई, जलालाबाद, धर्मकोट और मोगा में रखे गए संक्षिप्त समागमों को संबोधित करते हुए स. हरभजन सिंह ने कहा कि आज मोगा से समाध भाई बाईपास, कोट ईसे खां से गालिब कलाँ, धर्मकोट से जोगेवाला सडक़, मोगा बाइपास से मोगा हरीके सडक़ की मरम्मत का काम शुरू हो गया है, जोकि तीन महीने में पूरे किये जाएंगे। इन सडक़ों की कुल लंबाई 76.24 किलोमीटर बनती है, जिस पर 44.52 करोड़ रुपए की लागत लगनी है। इन सडक़ों से तकरीबन 60 गाँवों के लोगों को सीधे रूप में और 100 के करीब गाँवों के लोगों को अप्रत्यक्ष तौर पर फ़ायदा होगा। नियमों के मुताबिक यह सडक़ें 5 साल पहले बन जानी चाहीऐ थीं परन्तु पिछली सरकारों द्वारा इस तरफ़ कोई ध्यान नहीं दिया गया। अब यह सडक़ें बनने से लोगों की पुरानी माँग पूरी हो गई है। इन सडक़ों की 5 साल का मैंटेनेंस भी ठेकेदार द्वारा किया जायेगा।  

 इसके बाद मोगा में पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा मोगा के जि़ला प्रशासनिक कॉम्पलैक्स की इमारत में दो अन्य मंजिलों का विस्तार किया जाना है, इस काम के लिए 11 करोड़ रुपए मंज़ूर किये गए हैं। यह काम भी जल्द ही शुरू होगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा जि़ला मोगा को 3 नये 66 केवी के ग्रिड दिए हैं।  

 राज्य में बिजली की स्थिति संबंधी स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की निरंतर कोशिशों के स्वरूप बिजली बोर्ड आज लाभ में आ गया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने जब सत्ता संभाली थी तो तब बिजली बोर्ड 1880 करोड़ रुपए के घाटे में था, जिसको इस घाटे में से निकाल कर 564 करोड़ रुपए के लाभ में लाया गया है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की झारखंड में पिछले 9 साल से कोयले की खदान बंद पड़ी थी, जिसको आप सरकार ने फिर शुरू किया है। इससे बिजली बोर्ड को 1200 करोड़ रुपए का लाभ हुआ है। इस खदान के चलने से राज्य के पास 40 दिन का कोयला हमेशा अतिरिक्त स्टॉक होता है। पंजाब सरकार द्वारा नये सिरे से सोलर समझौते किये जा रहे हैं। जिससे जल्द ही पंजाब पावर सरपल्स राज्य बन जायेगा। अब पंजाब अन्य राज्यों को बिजली बेचा करेगा। पिछली सरकारों ने निजी क्षेत्र से 18 रुपए प्रति यूनिट बिजली खऱीदी थी परन्तु आप सरकार ने 2.33 रुपए के हिसाब से बिजली खऱीदी है।  

 इसके अलावा पंजाब देश का पहला राज्य है जिसने निजी क्षेत्र का थर्मल खरीदा है। आगामी गर्मी के मौसम में बिजली स्पलाई संबंधी पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अब कृषि को नहरी पानी के साथ जोड़ा जा रहा है। इस कारण पानी की कोई समस्या पेश नहीं आयेगी। उन्होंने भरोसा दिया कि राज्य में विकास कार्यों को रुकने नहीं दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र ने आरडीएफ के 5500 करोड़ रुपए रोके हुए हैं। जब यह जारी हो गए तो विकास कार्यों में और तेज़ी आयेगी। इस मौके पर डॉक्टर अमनदीप कौर अरोड़ा, स. मनजीत सिंह बिलासपुर, स. अमृतपाल सिंह सुखानन्द और स. दविन्दरजीत सिंह लाडी ढोंस ( सभी विधायक) ने भी संबोधन किया और पंजाब सरकार का धन्यवाद किया। इस मौके पर उन्होंने अपने-अपने हलकों की ज़रूरतों संबंधी भी अवगत करवाया। इस मौके पर स. हरमनदीप सिंह बराड़ चेयरमैन जि़ला योजना बोर्ड, श्री दीपक अरोड़ा चेयरमैन नगर सुधार ट्रस्ट मोगा, स. बलजीत सिंह चानी मेयर नगर निगम मोगा, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर श्रीमती अनीता दर्शी, चेयरमैन हरजिन्दर सिंह रोडे और अन्य भी उपस्थित थे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img