18.5 C
Chandigarh

अधिक जागरूकता और कार्यों से नशे की लत को रोका जा सकता है

- Advertisement -spot_img

फाजिल्का, 07 फरवरी
उपायुक्त डाॅ. सेनु दुग्गल ने नशे की रोकथाम के लिए की जा रही गतिविधियों और भविष्य में इसमें और तेजी लाने को लेकर मौजूदा अधिकारियों और ऑनलाइन माध्यम से जुड़े अधिकारियों के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि सभी विभागों की एकजुटता से नशे को खत्म किया जा सकता है।
बैठक के दौरान उपायुक्त ने कहा कि मादक पदार्थों की तस्करी को रोकने के लिए पुलिस व बीएसएफ को गांवों में गठित ग्राम रक्षा समितियों के साथ अधिक से अधिक बैठकें करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि नशे के खिलाफ जागरूकता गतिविधियां चलाने के साथ-साथ कार्यों में और तेजी लायी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि नशे पर रोक लगाने के लिए नशा तस्करों के खिलाफ और सख्त कदम उठाने को लेकर भी चर्चा हुई।
उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में प्रेरित करें और अधिक से अधिक जागरूकता सेमिनार आयोजित करें ताकि बच्चों के साथ-साथ युवा भी इससे दूर रहें। उन्होंने कहा कि बच्चों को इसके दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को इस दलदल में जाने से बचाने के लिए खेलों से जुड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीमा क्षेत्र पर विशेष नजर रखी जाये ताकि किसी भी प्रकार की मादक पदार्थों की तस्करी न हो सके।
उपायुक्त ने अधिकारियों से कहा कि नशे जैसी बुराई को खत्म करने के लिए सभी विभागों को एक-दूसरे के साथ मिलकर काम करना होगा और आपसी सहयोग से ही अपने भविष्य को इससे बचाया जा सकता है।
इस अवसर पर डी.एस.पी करण, शिक्षा विभाग से डिप्टी डीईओ मैडम अंजू सेठी, डाॅ. पिकाक्षी, विजय पाल के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img