23.5 C
Chandigarh

वित्तीय वर्ष 2023-24 के दौरान 2121 किलोमीटर लम्बी सडक़ों के काम हुए मुकम्मल: हरभजन सिंह ई.टी.ओ

- Advertisement -spot_img

चंडीगढ़, 13 फरवरी:  

पंजाब के लोक निर्माण मंत्री स. हरभजन सिंह ई.टी.ओ ने आज यहाँ बताया कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के दौरान अब तक 2121 किलोमीटर लम्बी सडक़ों के निर्माण कार्य मुकम्मल कर लिए गए हैं और इन कार्यों के दौरान अपनाई गई पारदर्शी बोली प्रक्रिया के कारण कुल 21 प्रतिशत की बचत हुई है।  

सर्दी और धुंध के मौसम के कारण बंद किए गए सडक़ निर्माण के कार्यों को 15 फरवरी से शुरू करने के मद्देनजऱ यहाँ पंजाब सिविल सचिवालय-2 में लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान स. हरभजन सिंह ई.टी.ओ ने विभाग के अधिकारियों की अब तक की कारगुज़ारी की प्रशंसा की। इस वित्तीय वर्ष के बाकी रहते 1954 किलोमीटर सडक़ों के कार्यों को मुकम्मल करने के लिए विभाग द्वारा अपनाई जा रही रणनीति की समीक्षा के उपरांत उन्होंने विश्वास प्रकट किया कि 31 मार्च तक सडक़ों के बाकी सभी कार्य भी लक्ष्य के मुताबिक मुकम्मल कर लिए जाएंगे।  

बैठक के दौरान वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए निर्धारित लक्ष्यों के अनुसार विभाग की अब तक की कार्यवाही संबंधी लोक निर्माण मंत्री को विस्तार सहित अवगत करवाते हुए विभाग के सचिव श्री प्रियांक भारती ने कहा कि मौजूदा वित्तीय वर्ष के दौरान अब तक 1089 करोड़ रुपए की लागत से 2121 किलोमीटर सडक़ें बनाई जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि इन कार्यों के दौरान अपनाई गई पारदर्शी बोली प्रक्रिया के स्वरूप 263 करोड़ रुपए की बचत हुई, जोकि 21 प्रतिशत बनती है। उन्होंने कहा कि बाकी रहती 1954 किलोमीटर की सडक़ों पर 1066 करोड़ रुपए इस वित्तीय वर्ष में ख़र्च कर लिए जाएंगे।  

लोक निर्माण विभाग को सफलता के लिए बधाई देते हुए स. हरभजन सिंह ई.टी.ओ ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2022-23 में 1432 करोड़ रुपए की लागत से 4292 किलोमीटर सडक़ें बनाई गई थीं और वित्तीय वर्ष 2023-24 में 2155 करोड़ रुपए की लागत से 4075 किलोमीटर सडक़ों का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जो विभाग द्वारा पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि विभाग की इन उपलब्धियों को देखते ही वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए 2089 करोड़ रुपए की लागत से 2270 किलोमीटर की सडक़ों का लक्ष्य निर्धारित किया जा रहा है।  

लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार न केवल राज्य में बेहतरीन बुनियादी ढांचे के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, बल्कि लोगों के पैसे को पूरी पारदर्शी प्रक्रिया के द्वारा पूरी ईमानदारी के साथ खर्चा जा रहा है। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के हाल ही में पदोन्नति पाने वाले अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि जहाँ विभाग में समय पर पदोन्नतियों को सुनिश्चित बनाया जा रहा है, वहीं किसी अधिकारी या कर्मचारी द्वारा काम में लापरवाही या बेईमानी को भी बर्दाश्त नहीं किया जा रहा।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img