9.7 C
Chandigarh

पंजाब के जेलों में लगेंगे AI कैमरे, नशा, मोबाइल या संदिग्ध सामान अंदर देने पर बजेगा अलार्म…

- Advertisement -spot_img

Punjab government will install cameras

पंजाब सरकार व पुलिस प्रशासन को जेल से लॉरेंस बिश्नोई के इंटरव्यू मामले समेत बैरकों से मोबाइल व नशा बरामद होने के कारण लगातार हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट से लगातार फटकार खानी पड़ रही है। पंजाब में जेलों में चलाए जाने वाले सर्च ऑपरेशन्स के दौरान बड़ी संख्या में मोबाइल बरामद होते है। ऐसे में एआई कैमरा से पुलिस को इन पर रोक लगाने में काफी मदद मिल ससक्ति है। कैमरे लग जाने के बाद जेल या फिर कैदी की बैरक के पास कोई भी संदिग्ध गतिविधि होने पर तुरंत ही अधिकारियों के पास एक अलर्ट पहुंच जाएगा। कैदियों पर इस तरह की निगरानी करने वाला पंजाब देश का दूसरा राज्य होगा। इससे पहले गुजरात की वडोदरा की जेल में कैदियों पर निगरानी व सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के लिए इस तरह की तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। जेल परिसरों में एआई आधारित सीसीटीवी निगरानी प्रणाली लग रही है।

Read also: जिला एसएएस नगर की सड़कों पर पंजाब के योद्धाओं, माई भागो-महिला शक्तिकरण और पंजाबी संस्कृति के प्रदर्शन ने लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

पंजाब पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन की ओर से पंजाब की आठ जेलों में अब इस पर काम चल भी रहा है। इससे जेल के हर कैदी पर नजर रखने में आसानी होगी। जेलों की क्षमता से ज्यादा कैदी हैं बंद हाल ही में पंजाब पुलिस की ओर से हाईकोर्ट में एक हलफनामा दिया गया था। इसमें पंजाब जेल पुलिस प्रबंधन ने बताया था कि प्रदेश की सभी जेलों में तय संख्या से ज्यादा कैदी बंद है। ऐसे में यह साबित होता है कि पंजाब की जेलें गैंगस्टरों, कुख्यात अपराधियों और अन्य अपराधियों की बढ़ती संख्या के आगे छोटी पड़ने लगी है। पंजाब जेल पुलिस प्रशासन के मुताबिक जेलों में डीआईजी जेल के 4 में से 2, सुपरिंटेंडेंट सेंट्रल जेल/एआईजी के 11 में से 6, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट के 68 में से 20, असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट के 123 में से 38 और अन्य स्टाफ के 3192 में से 1382 पद रिक्त है। जाब जेल पुलिस प्रशासन ने एआई तकनीक युक्त कैमरे और बॉडी स्कैनर इंस्टाल करने के लिए टेंडर जारी कर दिया है। फरवरी के मध्य तक टेंडर की प्रक्रिया पूरी होने के बाद इंस्टॉलेशन का काम शुरू हो जाएगा। पंजाब की प्रमुख जेलों में एआई कैमरे और बॉडी स्कैनर इंस्टाॅल करने में चार से 5 महीने का समय लगेगा। गुजरात के बाद पंजाब की जेल में अब कोई व्यक्ति नशा, मोबाइल या अन्य प्रतिबंधित सामान छिपाकर न ले जा सके इसके लिए अब जेलों में एक्सरे बेस्ड फुल बॉडी स्कैनर व अन्य उपकरण लगाए जाएंगे। पंजाब की जेलों में नई सुरक्षा व्यवस्था अपनाएं जाने को लेकर 7 फरवरी को पंजाब पुलिस को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में प्रोग्रेस रिपोर्ट भी देनी है।

Punjab government will install cameras

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img