23.5 C
Chandigarh

जिला प्रशासन ने शैक्षणिक संस्थानों के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए औद्योगिक संघों से हाथ मिलाया

- Advertisement -spot_img

डेराबस्सी (साहिबज़ादा अजीत सिंह नगर), 04 जनवरी 2024;

एक नई पहल का शुभारंभ करते हुए उपायुक्त श्रीमती आशिका जैन ने एसएसपी डाॅ. संदीप गर्ग के साथ आज शाम डेराबस्सी में सीएसआर गतिविधियों के तहत सरकारी मिडिल स्कूल भगवानपुर (भगवास) में बुनियादी ढांचे के नवीनीकरण का उद्घाटन किया।

शैक्षणिक संस्थानों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए जिला प्रशासन के साथ हाथ मिलाने के लिए डेराबस्सी के औद्योगिक संघों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि उद्योग कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रम के तहत नजदीकी सरकारी संस्थानों को अपनाकर उल्लेखनीय बदलाव ला सकते हैं।

उन्होंने राजकीय मध्य विद्यालय भगवानपुर में सीएसआर गतिविधियों के तहत विभिन्न उद्योगों द्वारा किये गये मूलभूत बदलावों का उल्लेख करते हुए कहा कि तीन कमरे,कक्षाओं को स्मार्ट कक्षाओं में बदलने के लिए पांच टच पैनल एलईडी व असेंबली ग्राउंड की टाइलिंग से अन्य संगठनों को भी जन हित कार्यों में योगदान डालने की प्रेरणा मिलेगी।

    उन्होंने कहा कि पी सी सी पी एल और उषा यार्न्स ने दो कमरे बनाने में 15 लाख रुपये खर्च किये हैं, जबकि कंसल इंडस्ट्रीज ने तीसरे कमरे के लिए 3.5 लाख रुपये खर्च किये हैं। इसी तरह, जय पार्वती ने स्मार्ट क्लासरूम के लिए 5 लाख रुपये में पांच टच पैनल एलईडी लगवाई जबकि भगवती स्टील्स ने असेंबली ग्राउंड में टाइलिंग कार्य पर 3.5 रुपये खर्च किये।

    डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि अब स्कूल में कमरों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है और हमें उम्मीद है कि स्कूल को जल्द ही ‘स्कूल ऑफ हैप्पीनेस’ का दर्जा मिलेगा जिसके तहत पंजाब सरकार द्वारा 40 लाख रुपये का अतिरिक्त अनुदान दिया जाएगा। जिसमें योग कक्षाएं शुरू करने के अलावा अन्य क्लासरूम, ऑफिस रूम, लैब, ओपन जिम आदि शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि स्कूल ऑफ हैप्पीनेस की अवधारणा छात्रों को तनाव मुक्त रखकर जीवन की गुणवत्ता, जीवन मूल्यों और व्यक्तित्व निर्माण जैसी नौकरी आधारित शिक्षा से कहीं अधिक प्रदान करना है।

     डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार सार्वजनिक क्षेत्र में शिक्षा और स्वास्थ्य संस्थानों को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।    सरकारी स्कूल के बच्चों को निजी स्कूलों के बराबर बनाने के लिए स्कूल ऑफ एमिनेंस की शुरुआत की गई है ताकि वे हर स्तर पर प्रतिस्पर्धा कर सकें।

     औद्योगिक संघों के प्रतिनिधियों को अपने प्लांटों को सुचारू रूप से चलाने के लिए अनुकूल वातावरण प्रदान करने का आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा कि दो मुख्य सड़कों की मरम्मत की लंबे समय से लंबित मांग; एक डेराबस्सी से बरवाला तक और दूसरा लालड़ू में चट्ठा फूड्स के सामने, पिछले साल सितंबर के मध्य में पंजाब के मुख्यमंत्री के साथ मोहाली में सरकार से उद्योगपतियों की हुई बैठक में दी गई प्रतिबद्धता के अनुसार बरवाला रोड पर काम शुरू कर दिया गया है जबकि दूसरी सड़क पर भी काम जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा क्योंकि एम सी लालडू द्वारा सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं।

   इसके अलावा, मुबारकपुर रोड पर डेराबस्सी में रेलवे अंडरपास की संपर्क सड़कों की भी जल्द ही मरम्मत की जाएगी क्योंकि जिला खनिज फाउंडेशन के फंड के तहत 60 लाख रुपये मंजूर किए गए हैं और शेष राशि लोक निर्माण विभाग से मांगी गई है। उन्होंने ग्रामीणों को सीवरेज और फिरनी रोड की समस्या का समाधान करने का भी आश्वासन दिया।

    एसएसपी डाॅ. संदीप गर्ग ने उद्योग संघ से बात करते हुए कहा कि जिला पुलिस उद्योगों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आने देगी, चाहे वह यूनियन एकाधिकार से संबंधित हो या किसी अन्य कानून व्यवस्था की समस्या से संबंधित हो। उन्होंने मादक पदार्थों की तस्करी और कानून-व्यवस्था से जुड़ी किसी भी अन्य समस्या के बारे में पुलिस को जानकारी देने के लिए उद्योगों और आम जनता से सहयोग मांगा।

इस अवसर पर उपस्थित अन्य अधिकारियों में एसडीएम डेराबस्सी हिमांशु गुप्ता, एएसपी डेराबस्सी डॉ.  दर्पण अहलूवालिया, उद्योगों के प्रतिनिधि, स्कूल के हेड मास्टर कुलजिंदर सिंह, गांव की सरपंच करमजीत कौर, स्कूल प्रबंधन समिति के सदस्य रणजीत सिंह राणा, सुखविंदर सिंह और सेवक सिंह उपस्थित थे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img