18.5 C
Chandigarh

Operation Eagle-3: बस स्टैंडों, रेलवे स्टेशनों पर राज्यव्यापी विशेष चैकिंग और तलाशी अभ्यान

- Advertisement -spot_img

चंडीगढ़, 2 जनवरीः मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की सोच अनुसार पंजाब को सुरक्षित राज्य बनाने के मद्देनज़र शुरु की मुहिम के अंतर्गत पंजाब पुलिस ने मंगलवार को ‘‘ऑपरेशन ईगल-3 ’ (Operation Eagle-3) के नाम के तहत राज्य भर के सभी बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों और इनके आसपास के स्थानों पर विशेष घेराबन्दी और तलाशी अभ्यान (कासो) चलाया। यह कार्यवाही डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डीजीपी) पंजाब गौरव यादव के निर्देशों पर अमल में लाई गई। 

यह ऑपरेशन (Operation Eagle-3) दोपहर 12 बजे से दोपहर 3 बजे तक सभी 28 पुलिस जिलों में एक ही समय चलाया गया, जिसके अंतर्गत पुलिस टीमों ने सनिफ़र डॉगज़ (सूँघने वाले कुत्तां) की सहायता से रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर आने-जाने वाले लोगों की तलाशी की।  

पुलिस के विशेष डायरैक्टर जनरल (स्पैशल डीजीपी) कानून और व्यवस्था अर्पित शुक्ला, जो निजी तौर पर इस राज्य स्तरीय कार्यवाही की निगरानी कर रहे थे, ने बताया कि इस कार्यवाही को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए सभी सीपीज़/ एसएसपीज़ को हरेक रेलवे स्टेशन / बस अड्डों पर एसपी/ डीएसपी रैंक के अधिकारियों के नेतृत्व वाली कम से कम दो मज़बूत टीमें तैनात करने के लिए कहा गया था। उन्होंने कहा कि रैंज अधिकारियों को इस कार्यवाही की मुकम्मल निगरानी करने के लिए कहा गया था। 

उन्होंने कहा कि पुलिस मुलाजिमों को सभी शक्की व्यक्तियों से पूछताछ करने और उनके पृष्टभूमि की जाँच करने के निर्देश दिए गए थे। उन्होंने कहा, “हम सभी पुलिस मुलाजिमों को सख़्ती से हिदायत की थी कि वह इस कार्यवाही के दौरान हर व्यक्ति के साथ दोस्ताना ढंग और विनम्रता के साथ पेश आएं।“

स्पैशल डी. जी. पी. ने कहा कि राज्य के अलग-अलग रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर शक्की व्यक्तियों की शिनाख़्त के लिए राज्य भर में लगभग 500 पुलिस टीमें, जिनमें 4000 से अधिक पुलिस कर्मी शामिल थे, ने ऑपरेशन को अंजाम दिया और इस दौरान कम से कम असुविधा को यकीनी बनाया गया। 

उन्होंने कहा कि राज्य के 134 बस अड्डों और 181 रेलवे स्टेशनों पर चलाए गए ऑपरेशन के दौरान 917 शक्की व्यक्तियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है, जबकि पुलिस टीमों ने 21 ऐफआईआरज़ दर्ज करके 24 आपराधिक तत्वों को भी गिरफ़्तार किया है। 

ज़िक्रयोग्य है कि ऐसे ऑपरेशन फील्ड में पुलिस की मौजूदगी को दिखाने और आम लोगों का भरोसा बढ़ाने में भी मददगार सिद्ध होते हैं। 

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img