23.5 C
Chandigarh

फाजिल्का में सेहत विभाग ने  शुरू की महिलाओं की स्तन कैंसर स्क्रिनिग जांच

- Advertisement -spot_img

फाजिल्का 

फाजिल्का जिले के गांवों और शहरी इलाकों में सेहत विभाग की तरफ से महिलाओं की स्तन कैंसर स्क्रीनिंग जांच शुरू कर दी गई है।और मौके पर ही रिपोर्ट दी जा रही हैताकि उसका समय से इलाज शुरू हो सके। इस को लेकर पहले ही  सिविल सर्जन ने जिले के सभी और आशा फैसिलिटेटर  ओर आशा वर्करों को हिदायत जारी की थी की  हर गांव में
आशा  वर्कर सर्वे करे ताकि सही डाटा इकट्ठा हो सके फिर  कैंप में उनको फायदा मिल सके।  इस बारे में जानकारी देते हुए  नोडल ऑफिसर डॉक्टर कविता सिंह ने बताया कि निरमई संस्था जो कैंसर स्क्रीनिंग प्रोग्राम में पंजाब सरकार के साथ काम कर रही है । उन्होंने बताया की स्क्रीनिंग कैंप
के लिए संपर्क रहित स्तन कैंसर जांच की पेशकश करने वाला पहला राज्य बनने के लिए पंजाब ने निरमई के साथ साझेदारी की है।
यह बहुत गर्व और सम्मान की बात है कि हम महिलाओं के स्तन स्वास्थ्य जागरूकता में योगदान देने के लिए पंजाब सरकार के साथ निरमई की साझेदारी से लोगो को फायदा होगा।  डॉक्टर कविता सिंह ने कहा कि महिला में छाती का कैंसर काफी होता है जिसके लिए समय पर स्क्रीनिंग और इलाज की जरूरत होती है जिससे महिला की जान बचाई जा सकती है। इसके लिए जागरूकता बहुत जरूरी है इसलिए गांव स्तर पर आशा वर्कर को ट्रेनिंग दी गई है।  संस्था निरमई के नए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस-आधारित, विकिरण-मुक्त, स्वचालित, गैर-आक्रामक स्तन स्वास्थ्य स्क्रीनिंग परीक्षण को थर्मलीटिक्सटीएम कहा जाता है। यह एक स्पर्श रहित, बिना दर्द वाला, एक विकिरण-मुक्त गोपनीयता-संवेदनशील स्क्रीनिंग परीक्षण है जो सभी आयु वर्ग की महिलाओं के लिए प्रारंभिक चरण में स्तन कैंसर का पता लगाता है, चाहे लक्षणयुक्त हों या स्पर्शोन्मुख हो ।पंजाब सरकारऔर सेहत विभाग  थर्मलीटिक्सटीएम के उपयोग को आगे बढ़ा रही है, जिससे पंजाब संपर्क रहित स्तन कैंसर स्क्रीनिंग की पेशकश करने वाला पहला राज्य बन गया है और इसके लिए एक संयुक्त पहल शुरू की गई है। ताकि महिला की समय से जांच और इलाज शुरू हो सके।  तरनजीत कौर ने बताया कि निरमाई हेल्थ एनालिटिक्स स्तन स्वास्थ्य स्क्रीनिंग भागीदार के रूप में कार्य करता है
रोशे इंडिया रेफरल पाथवे तकनीकी भागीदार के रूप में योगदान देता है।

इस साझेदारी परियोजना का उद्देश्य स्तन जांच के माध्यम से स्तन स्वास्थ्य जागरूकता में तेजी लाना है, जिससे पंजाब राज्य में स्तन कैंसर को कम किया जा सके। यह स्तन कैंसर का शीघ्र पता लगाने और प्रबंधन के प्रति जागरूकता बढ़ाने में सहायता करता है।

रोश प्रोडक्ट्स इंडिया लिमिटेड इस पहल में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और राज्यव्यापी स्तन कैंसर परियोजना योजना की परियोजना योजना, कार्यान्वयन और निगरानी के लिए एक तकनीकी भागीदार के रूप में कार्य करेगा, जिससे डिजिटलीकरण के माध्यम से रेफरल मार्ग मजबूत होगा।

मृत्यु दर को कम करने और समय पर उचित उपचार प्रदान करने के लिए स्तन कैंसर का शीघ्र पता लगाना बेहद महत्वपूर्ण है।  की जांच करना है।  इसलिए इसे संसाधन-बाधित स्थानों में न्यूनतम प्रशिक्षण के साथ तकनीशियनों द्वारा आयोजित प्राथमिक स्क्रीनिंग विधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। फाजिल्का जिले में यह कैंप 26  दिसंबर से शुरु हो चुके है जो 22 जनवरी 2024 तक चलेंगे। अभी तक अबोहर और सित्तो गूनो में 100 के करीब महिला  की जांच की जा चुकी है और 3 जनवरी से 5 जनवरी तक ब्लॉक खुईखेड़ा , 6जनवरी से 9 जनवरी तक डाबवाला कला ,10जनवरी से 12 जनवरी सिविल हस्पताल फाजिल्का , 15 जनवरी से 18 जनवरी तक जंडवाला भीमेशाह ओर 19 जनवरी से 22जनवरी को जलालाबाद  हस्पताल में कैंप लगेगा।  डॉक्टर कविता ने बताया कि कैंप में जांच के बाद मेमोग्राफ की जरूरत नहीं पड़ेगी बल्कि एक अल्ट्रा साउंड और एक बॉइप्सी की जांच होगी। इस विधि से कोई रेडिएशन नही है जिससे गर्भवती और बच्चे को दूध पिलाने वाली महिला भी इस जांच को करवा सकती है। इस एडवांस तकनीक से गेंहू के दाने जितनी भी गांठ भी रिपोर्ट में आ जाएगी। रेड रिपोर्ट आने पर मरीज की जांच और इलाज शुरू होगा जो की सरकार की तरफ से मुफ्त किया जायेगा।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img