8.9 C
Chandigarh

नशों के विरुद्ध जागरूकता: 282 नशा पीड़ितों ने एन. डी. पी. एस. एक्ट की धारा 64-ए के अधीन पुनर्वास का प्रण लिया

- Advertisement -spot_img

चंडीगढ़, 23 जनवरीः

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा नशों की दलदल में फंसे लोगों को फिर मुख्य धारा में लाने के मद्देनज़र चलाई जा रही जागरूकता मुहिम के अंतर्गत और भी नशा पीड़ितों ऐनडीपीऐस एक्ट की धारा 64-ए का लाभ लेकर पुनर्वास और इलाज के लिए आगे आ रहे हैं। यह जानकारी आज यहाँ इंस्पेक्टर जनरल पुलिस (आईजीपी) हैडक्वाटर डॉ. सुखचैन सिंह गिल ने दी। 

उन्होंने बताया, ‘सिर्फ़ 20 दिनों में, माननीय अदालत ने 237 मामलों की पुष्टि की है, जहाँ ऐनडीपीऐस एक्ट की धारा 64-ए के अंतर्गत हुक्म पास किये गए हैं जिसके अंतर्गत 282 नशा पीड़ितों का नशा छुड़वाने और पुनर्वास के लिए इलाज करवा रहे हैं।’

ज़िक्रयोग्य है कि राज्य सरकार ने राज्य में से नशों के ख़ात्मे के लिए त्रिआयामी रणनीति- लागू, रोकथाम और पुनर्वास- को लागू किया है। रणनीति के हिस्से के तौर पर, पंजाब पुलिस ऐनडीपीऐस एक्ट की धारा 64- ए के बारे प्रचार और जागरूकता फैला रही है और इस रणनीति के अंतर्गत कुछ ग्राम हेरोइन या नशीले पाउडर के साथ पकड़े गए नशाग्रसत व्यक्तियों को पुनर्वास का मौका दिया जाता है। 

आईजीपी ने कहा कि बड़े नशा तस्करों के विरुद्ध भी कार्यवाही जारी है, पंजाब पुलिस ने पिछले हफ्ते 109 एफआईआर दर्ज करके 31 बड़ी मछलियों समेत कुल 141 नशा तस्करों/ सप्लायरों को गिरफ़्तार किया और 19.4 किलो हेरोइन, 8.3 किलो अफ़ीम, 25. 23 क्विंटल भुक्की, और 4201 नशे की गोलियां/ कैप्सूल/ टीके/ शीशियां बरामद किये। इसके इलावा उनके पास से 1.40 लाख रुपए की ड्रग मनी भी बरामद की गई। 

उन्होंने कहा कि पिछले एक हफ्ते के दौरान ऐनडीपीऐस मामलों में छह और भगौड़े गिरफ़्तार किये जाने से 5 जुलाई, 2022 को पी. ओज/ भगौड़ों को गिरफ़्तार करने के लिए चलाई विशेष मुहिम के अंतर्गत गिरफ़्तारियों की कुल संख्या 1260 तक पहुँच गई है। 

1 जनवरी, 2024 से 15 जनवरी, 2024 तक ऐनडीपीऐस एक्ट के अंतर्गत नशों से सम्बन्धित मामलों के निपटारे के बारे विवरण देते हुये आईजीपी सुखचैन गिल ने बताया कि पंजाब पुलिस की अलग- अलग फील्ड और स्पैशल ईकाइयों ने 523 किलो हेरोइन, 79.92 क्विंटल भुक्की, 298 किलो गाँजा और 17. 57 लाख नशे की गोलियां/ कैपसूलों को, उच्च-स्तरीय नशा निपटारा समितियों की देख-रेख में उचित प्रक्रिया की पालना करते हुये नष्ट किया है। 

उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस ने सरकार बनने से लेकर अब तक बड़े नशा तस्करों की 111 करोड़ रुपए की 263 जायदादें ज़ब्त की हैं। जबकि 3.60 करोड़ रुपए की अन्य जायदादों को ज़ब्त करने सम्बन्धी 9 अन्य प्रस्ताव समर्थ अधिकारी के पास विचाराधीन हैं। 

इसके इलावा आई. जी. पी सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि पंजाब पुलिस राज्य में अमन कानून की स्थिति को सुधारने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रही है। 

उन्होंने कहा कि 6 अप्रैल, 2022 को स्थापित हुई एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स (एजीटीएफ) ने अब तक 951 गैंगस्टरों/ अपराधियों को गिरफ़्तार करने और 10 को बेअसर करने के उपरांत 312 गैंगस्टरों/ आपराधिक माड्यूलों का पर्दाफाश किया है और उनके पास से आपराधिक गतिविधियों में इस्तेमाल किये जाने वाले 963 हथियारों और 208 वाहनों को बरामद करने में सफलता प्राप्त की है।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img