12.5 C
Chandigarh

शैक्षणिक भ्रमण से विद्यार्थी का ज्ञानवर्धन होता है बढ़ोतरी-अशोक कुमार

- Advertisement -spot_img

मानसा, 11 फरवरी:
स्कूल शिक्षा विभाग पंजाब और जिला शिक्षा अधिकारी (एसईसी) मानसा श्री मेवा सिंह सिद्धू के निर्देशों के तहत सरकारी हाई स्मार्ट स्कूल रामपुर मंडेर के छात्रों के लिए संत लोंगोवाल ने नौवीं और दसवीं कक्षा के छात्रों के लिए उच्च शिक्षण संस्थानों की यात्रा आयोजित की। शैक्षिक यात्रा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर टेक्नोलॉजी लोंगोवाल में आयोजित किया गया।
इस संबंध में जानकारी देते हुए उप जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) श्री अशोक कुमार ने बताया कि पढ़ाई के साथ-साथ विद्यार्थियों के लिए शैक्षणिक यात्राएं भी बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि ये यात्राएं जहां छात्रों के ज्ञान में वृद्धि करती हैं, वहीं छात्रों के मनोबल को बढ़ाने में भी सहायक होती हैं।
स्कूल के प्रमुख परविंदर सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार के निर्देशानुसार विद्यार्थियों के लिए यह यात्रा आयोजित की गई है। कॉलेज में छात्रों ने रोबोटिक्स लैब में लाइव काम देखा और इसके साथ ही छात्रों ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में भी बड़े चाव से जाना. विद्यार्थियों को कॉलेज की कंप्यूटर लैब, स्पोर्ट्स लैब और साइंस लैब आदि दिखाई गईं। इसके अलावा कॉलेज के ऑडिटोरियम, विभिन्न खेलों से संबंधित स्टेडियम और कॉलेज के प्रशासनिक ब्लॉक को दिखाया गया।
उन्होंने कहा कि इस शैक्षणिक यात्रा का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों को दसवीं और बारहवीं कक्षा के बाद विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के बारे में जानकारी देना है। पंजाब सरकार की इस पहल की बदौलत सभी छात्रों को अपनी रुचि के अनुसार विषय चुनने की आजादी दी गई है। उन्होंने कहा कि ये शैक्षणिक यात्राएं विद्यार्थियों के लिए काफी लाभदायक साबित होंगी। संत लोंगोवाल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी लोंगोवाल के गाइड स्टाफ ने सभी विद्यार्थियों और शिक्षकों को कॉलेज के विभिन्न पाठ्यक्रमों के बारे में बहुत अच्छी तरह से जानकारी दी।
संस्थान के शिक्षकों ने छात्रों को दसवीं कक्षा के बाद इस कॉलेज में चलने वाले सभी पाठ्यक्रमों और बारहवीं कक्षा के बाद सभी पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी दी, जिसमें उन्होंने बताया कि दसवीं कक्षा के बाद प्रवेश की क्या आवश्यकताएं हैं और इसी तरह कक्षा के बारे में जानकारी दी गई। 12वीं के बाद विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश पाने की प्रक्रिया। छात्रों ने इस संस्थान में प्रवेश पाने के लिए अपनी रुचि व्यक्त की।
इस शैक्षणिक यात्रा को सफल बनाने में श्रीमती पूनम, श्रीमती तरणजीत कौर एवं श्री पपिंदर सिंह का विशेष योगदान रहा।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img