23.5 C
Chandigarh

5 साल में 4167 करोड़ की जीएसटी चोरी; पकड़े गए 61 लोग

- Advertisement -spot_img

Punjab taxation department

देश भर में ऐसे मामले सामने आए है, जहां पर फर्जी कंपनियां रजिस्टर्ड की जा रही है। ये कंपनियां इनपुट क्रेडिट के जरिये पैसा जुटा रही है, जिससे सरकार को राजस्व का नुक्सान हो रहा है। इसी के चलते टैक्स चोरी मामलों का पता लगाने के लिए अभियान चलाया गया था। पंजाब के कराधान विभाग ने पंजाब में पिछले 5 साल में 4167 करोड़ रुपये की जीएसटी चोरी का पता लगाया है। इसमें से कराधान विभाग 1171 करोड़ रुपये की वसूली भी कर चुका है। पंजाब के कराधान विभाग ने पंजाब में पिछले पांच साल में 4167 करोड़ रुपये की जीएसटी चोरी का पता लगाया है।

Read also: चोरों ने चुरा ल‍िए यूक्रेन के 332 करोड़ रुपये; रूस से खरीदना था गोला-बारूद

इसमें से कराधान विभाग 1171 करोड़ रुपये की वसूली भी कर चुका है। रिपोर्ट के अनुसार, अलग-अलग मामलों में इस दौरान करीब 61 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया। इसके अलावा पिछले साल विभाग की तरफ से फर्जी पंजीकरण व बिलिंग चेक करने के लिए एक विशेष अभियान भी चलाया गया था। केंद्र सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2019-20 में 296 करोड़ रुपये जीएसटी चोरी का पता लगा, जिसमें से 200 करोड़ वसूल कर लिए गए। इस दौरान 4 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई। वर्ष 2020-21 में 715 करोड़ रुपये की जीएसटी चोरी के मामले सामने आए, जिसमें से 299 करोड़ रुपये वसूल कर लिए गए और 25 लोगों की गिरफ्तारी हुई। वर्ष 2021-22 में 1522 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का पता चला और इसमें 164 करोड़ रुपये वसूल कर लिए गए। 27 लोगों की गिरफ्तार हुई। अगर वर्ष 2022-23 की बात की जाए तो इस वर्ष अलग-अलग मामलों में 3 लोगों की गिरफ्तारी हुई। साथ ही 481 करोड़ रुपये जीएसटी चोरी का पता लगा और 145 करोड़ रुपये वसूले गए।केंद्र ने प्रदेश को इस संबंध में बेहतर सहयोग के लिए अधिकारियों को भी तैनात करने के लिए बोला था, ताकि सहयोग के साथ मामले में उचित कारवाई की जा सके।

Punjab taxation department

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img