18.5 C
Chandigarh

पाकिस्तान चुनाव में हुआ बड़ा खेल? 24 सीटों पर जीत के अंतर से ज्यादा खारिज हुए वोट

- Advertisement -spot_img

Pakistan Election

पाकिस्तान में आम चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। नतीजों को लेकर धांधली के आरोप लग रहे हैं। अब खबर आयी है कि पाकिस्तान में नेशनल असेंबली की 24 सीटों पर जीत के अंतर से ज्यादा मतपत्र खारिज हुए हैं। अब ये धांधली का नतीजा है या लोगों की लापरवाही, लेकिन ये आंकड़े शक जरूर पैदा करते हैं। चुनाव नतीजों के बाद अब विभिन्न उम्मीदवारों ने कानूनी लड़ाई लड़ने का एलान किया है। कई याचिकाओं में चुनाव नतीजों की फिर से समीक्षा की मांग की गई है। 

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब में सबसे ज्यादा गड़बड़ी हुई है, जहां 22 सीटों पर जीत के अंतर से ज्यादा वोट खारिज हुए हैं। खैबर पख्तूनख्वा की एक और सिंध प्रांत की एक सीट पर भी जीत के अंतर से ज्यादा खारिज वोटों की संख्या ज्यादा रही है। जिन सीटों पर बड़ी संख्या में वोट खारिज हुए हैं, उनमें से 13 पर नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज, पांच  सीटों पर पाकिस्तान पीपल्स पार्टी, चार सीटों पर पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ समर्थित निर्दलीय और दो सीटों पर अन्य निर्दलीय उम्मीदवारों को जीत मिली है। 

इन सीटों पर सबसे ज्यादा रहा अंतर
पाकिस्तान की नेशनल असेंबली की सीट एनए-59 (तालागंग चकवाल) पर सबसे ज्यादा वोट खारिज हुए हैं। इस सीट पर पीएमएल-एन के उम्मीदवार सरदार गुलाम अब्बास ने 11,964 वोटों से पीटीआई के मुहम्मद रुमन अहमद को हरा दिया। इस सीट पर खारिज वोटों की संख्या 24,547 रही। ऐसे ही नेशनल असेंबली सीट- 213 (उमरकोट) में भी 17,571 वोट खारिज हुए। सबसे कम वोट जहां खारिज हुए, वो कराची ईस्ट-2 सीट है, जहां 51 वोट ही खारिज हुए। 

इस तरह पाकिस्तान की कुल 265 असेंबली सीटों पर करीब 20 लाख वोट खारिज हुए। चार सीटों पर खारिज वोटों की संख्या 15 हजार से ज्यादा रही। 21 सीटों पर खारिज वोटों की संख्या 10-15 हजार के बीच रही। 137 सीटों पर कैंसिल किए गए वोटों की संख्या 5 हजार से लेकर 10 हजार के बीच रही। 67 सीटों पर कैंसिल वोटों की संख्या पांच हजार से कम रही और एक हजार से ज्यादा। छह नेशनल असेंबली सीटों पर कैंसिल मतपत्रों की संख्या हजार से भी कम रही।

READ ALSO:मस्क के ‘एक्स’ खरीदने की इनसाइड स्टोरी का खुलासा, एक अकाउंट और पराग अग्रवाल की न बनी डील की वजह

पीएमएल-एन और पीपीपी गठबंधन की बन सकती है सरकार
साफ है कि अगर इतनी बड़ी संख्या में मतपत्र खारिज न हुए होते तो पाकिस्तान के चुनाव नतीजे कुछ और ही होते। फिलहाल इमरान खान की पार्टी पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार 101, नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन को 75 और बिलावल भुट्टो जरदारी की पार्टी को 54 सीटों पर जीत मिली है। पीएमएल-एन और पीपीपी गठबंधन कर सरकार बनाने के लिए बातचीत कर रहे हैं। 

Pakistan Election

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img