18.5 C
Chandigarh

गणतंत्र दिवस के अवसर पर शांतमयी जश्नों को यकीनी बनाने के लिए 20,000 से अधिक पुलिस मुलाजिम मुस्तैद

- Advertisement -spot_img

चंडीगढ़, 23 जनवरी

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के दिशा-निर्देशों अनुसार गणतंत्र दिवस पर शांतमयी जश्नों को यकीनी बनाने के लिए पंजाब पुलिस ने हैडक्वाटर से अलग-अलग जिलों में सीनियर पुलिस अधिकारियों को तैनात किया है और सभी स्थानों पर अमन-कानून की स्थिति को यकीनी बनाने के लिए 20000 से अधिक पुलिस मुलाजिमों को इस कार्य में लगाया गया है। 

ज़िक्रयोग्य है कि पटियाला में होने वाले राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस समागम के दौरान पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित राष्ट्रीय झंडा लहराएंगे और सलामी लेंगे, जबकि मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान लुधियाना में राष्ट्रीय झंडा लहरायेंगे। 

आज यहाँ प्रैस कान्फ्ऱेंस को संबोधन करते हुए इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (आई. जी. पी.) हैडक्वाटर डॉ. सुखचैन सिंह गिल ने बताया कि डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डी. जी. पी.) पंजाब गौरव यादव निजी तौर पर गणतंत्र दिवस के सुरक्षा प्रबंधों की निगरानी कर रहे हैं और इस मंतव्य के लिए उनकी तरफ से डीजीपी लॉ एंड आर्डर अर्पित शुक्ला को नोडल अफ़सर नियुक्त किया गया है जिससे सभी स्थानों पर सुरक्षा के पुख़्ता प्रबंधों को यकीनी बनाया जा सके। 

उन्होंने कहा कि सुरक्षा के पुख़ता प्रबंध किये गए हैं और स्पैशल डीजीपी/एडीजीपी/ आईजीपी/ डी.आई.जी रैंक के सीनियर पुलिस अधिकारियों को अलग-अलग जिलों में मौजूद रह कर अपने-अपने सम्बन्धित स्थानों पर सुरक्षा प्रबंधों की निजी तौर पर निगरानी करने के लिए कहा गया है। 

उन्होंने कहा कि समूह गज़टिड अफ़सरों और स्टेशन हाऊस अफ़सरों (एस. एच. ओज.) को भी गणतंत्र दिवस समागम की समाप्ति तक फील्ड में रहने के आदेश दिए गए हैं। इसके इलावा संवेदनशील स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। 

आई. जी. पी. ने बताया कि डीजीपी पंजाब ने राज्य भर में वाहनों और शक्की लोगों की व्यापक चैकिंग के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की सभी अंतरराज्यीय, अंतर-ज़िला और शहरी सीमाओं को सील करने संबंधी योजनाएँ लागू की जा रही हैं। 

उन्होंने पंजाब के लोगों को हर समय सचेत रहने की अपील भी की और कहा कि यदि उनको कुछ भी संदेहपूर्ण लगता है तो वह तुरंत पुलिस को सूचित करें। उन्होंने कहा कि लोग 112 हेल्पलाइन नंबर पर पुलिस को सूचना दे सकते हैं। 

इसके साथ ही सीपीज़/ एसएसपीज़ को रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों के आसपास घेराबंदी और सर्च आपरेशन करने और बाज़ारों, सरकारी इमारतों और धार्मिक स्थानों सहित संवेदनशील स्थानों की चैकिंग करने के लिए भी कहा गया है।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img