20.5 C
Chandigarh

शंभू बॉर्डर पर किसानों ने किया पथराव; ड्रोन से दागे गए आंसू गैस के गोले

- Advertisement -spot_img

Kisan andolan live

अंबाला से लगता पंजाब का शंभू बॉर्डर पूरी तरह से सील है। शंभू टोल से 1 किलोमीटर पहले एक और नाका लगाया गया है जहां से आगे किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है। दिल्ली जाने वाली बसें हिसार से वापस लौट रही है। पंजाब, राजस्थान की बसें पूरी तरह से बंद है। ग्रामीण एरिया की बसें प्रभावित है। प्रशासन का दावा है कि दिल्ली, चंडीगढ़ की बसें चल रही हैं लेकिन चालकों ने बताया कि बसें बीच रास्ते ही वापस आ रही है। किसान संघ को यह समझने की जरूरत है।

Read also: साल 2030 तक अक्षय ऊर्जा के लक्ष्य को हासिल करने में खर्च होंगे 12 खरब डॉलर…

किसान आंदोलन के कारण शाहाबाद में दिल्ली-अंबाला नेशनल हाईवे 44 पर देर रात को ही पक्की बैरिकेडिंग कर दी गई है। वज्र और वाटर कैनन भी तैनात है। करनाल से लगती सीमा तक जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात है। किसानों को हिरासत में लेने की जरूरत पड़ने पर उन्हें ले जाने के लिए पुलिस लाइन में दर्जनों बसें खड़ी की गई है। फिलहाल शाहाबाद तक नेशनल हाईवे पर कोई रोक नहीं है, लेकिन किसानों के कूच व शाहाबाद में सील किए गए हाईवे के चलते आवाजाही बेहद कम है। फतेहगढ़ साहिब के गांव लटोर में क्रांतिकारी किसान यूनियन किसानों के लिए लंगर पानी का प्रबंध कर रही है। पंजाब के किसान स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, एमएसपी पर गारंटी, लखीमपुर खीरी हादसे पर सख्त कार्रवाई करने, किसान मोर्चों के दौरान मारे गए किसानों के परिवारों को सरकारी नौकरी व मुआवजा राशि देने की मांग पर अड़े है। उन्हें दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए हरियाणा में सुरक्षा के काफी कड़े इंतजाम है। कुछ देर बाद दिल्ली की तरफ कूच किया जाएगा। शंभू बॉर्डर से किसानों को हिरासत में लिया जा रहा है।

Kisan andolan live

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img