20.5 C
Chandigarh

अमेरिका से करनाल पहुंचा युवक का शव:2 मासूम बेटों ने दी पिता को मुखाग्नि..

- Advertisement -spot_img

Karnal Sanjay Heart Attack 

हरियाणा के करनाल में संजय का शव घर पहुंच गया है। उसकी 16 दिन पहले अमेरिका में हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। आज दोपहर एंबुलेंस के जरिए शव पैतृक गांव में लाया गया। जहां पर संजय के शव को देखकर परिवार सहित पूरे गांव की आंखें नम थीं। संजय के 12 साल के बड़े बेटे ने अपने छोटे भाई के साथ मिलकर पिता की चिता को मुखाग्नि दी। यह दृश्य देखकर वहां मौजूद ग्रामीणों की आंखें भर आईं।

परिवार ने करीब डेढ़ साल पहले 30 लाख लगाकर संजय को विदेश भेजा था। अब मां ने 40 लाख कर्ज लेकर उसके शव को भारत मंगाया है। संजय के परिवार के लोगों ने शव भारत मंगाने के लिए हरियाणा के CM मनोहर लाल से भी गुहार लगाई थी, लेकिन सरकार द्वारा कोई मदद नहीं की गई। इसके बाद परिवार ने डेड बॉडी मंगाने के लिए कर्ज लिया।

2022 में डोंकी से अमेरिका गया था संजय
मृतक के भाई सोनू ने बताया कि संजय 2022 के अगस्त महीने में ही अमेरिका चला गया था। डोंकी के रास्ते उसे वहां पहुंचने में करीब 8 से 9 महीने का समय लगा। इस दौरान बॉर्डर से करीब 2-3 बार वापस आ चुका था। इसके बाद किसी तरह से वह अमेरिका में दाखिल हो गया। उसके बाद अमेरिका में उसे डेढ़ से दो महीने तक काम ही नहीं मिला।

READ ALSO:IND vs ENG हैदराबाद टेस्ट का तीसरा दिन:ओली पोप सेंचुरी के करीब

बाद में उसे काम मिला और स्टोर पर काम करने लगा। उसे उम्मीद थी कि उसका कर्ज भी उतर जाएगा और घर के हालात भी सुधर जाएंगे लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। उसे पहले भी हार्ट अटैक आया था। तब उसे साथियों ने अस्पताल में भर्ती करवाया। वह ठीक तो हो गया था, लेकिन उसके बाद से ही वह बीमार रहने लगा था। ढंग से काम भी नहीं कर पा रहा था।संजय की दूसरे अटैक में हुई मौत
सोनू ने बताया कि 10 जनवरी को संजय को फिर अटैक आया। चचेरे भाई रजनीश व अन्य साथियों ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया। 10 जनवरी की रात को उसने मां, पत्नी और बच्चों से फोन पर बात की थी। उसने कहा था कि वह बिल्कुल ठीक है और जल्दी ठीक हो जाऊंगा। उसके 6 घंटे बाद शुक्रवार 11 जनवरी अलसुबह उसकी मौत हो गई।

Karnal Sanjay Heart Attack 

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img