8.9 C
Chandigarh

चुनाव से पहले ब्लास्ट; 12 लोगों की मौत और 30 से अधिक घायल

- Advertisement -spot_img

 Harda factory blast 

मध्यप्रदेश के हरदा में पटाखा फैक्टरी में हुए ब्लास्ट ने जिले को ही नहीं पूरे प्रदेश को दहलाकर रख दिया है। विस्फोट में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि घायलों की आंकड़ा 217 पहुंच गया है। उधर, पुलिस ने फैक्टरी मालिक सोमेश अग्रवाल, राजेश अग्रवाल और रफीक खान को गिरफ्तार कर लिया है।

Read also: नांदेड़ में धार्मिक कार्यक्रम में खाना खाने के बाद 2000 लोग बीमार…

विस्फोट के बाद 3 भागने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस न उन्हें सारंगपुर में पकड़ लिया। इसमें 2 लोगों की मौत हो गई थी। 2017 और 2022 में भी यहां 10-12 लोगों की मौत हुई थी। 7 साल में करीब 12-14 लोगों की मौत हो चुकी है, इसके बाद भी प्रशासन ने कोई सख्त कदम नहीं उठाया। सूत्रों के अनुसार, फैक्टरी मालिक राजेश अग्रवाल और उसका भाई सोमेश अग्रवाल 2009 तक पटाखे की छोटी सी दुकान चलाते थे। इसके बाद इन्होंने पटाखे बनाने शुरू किए और फिर एक-एक कर 5 फैक्टरियां खड़ी कर दी। जिस बिल्डिंग में फैक्टरी चल रही थी, उसमें ग्राउंड के अलावा दो फ्लोर थे। 2023 में यहां जीएसटी ने छापेमारी की थी। इससे पहले फैक्टरी को सील भी किया गया था। विस्फोट में घायल हुए 217 लोगों में से 51 फैक्टरी के मजदूर है। गंभीर रूप से घायल 50 से अधिक लोगों को भोपाल, इंदौर और नर्मदापुरम रेफर किया गया। वहीं, अन्य घायल अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती है।

Harda factory blast 

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img