9.7 C
Chandigarh

Panipat: कोहरे के कारण हुआ हादसा; नहर में गिरी कार

- Advertisement -spot_img

Car fell into canal in zero visibility

पानीपत के गांव सिवाह के पास कार नहर में गिरने से हादसा हो गया। हादसा कोहरे के कारण जीरो दृश्यता की वजह से हुआ। कार सवार दाे प्रबंधक भाई शीशा तोड़कर और तैरकर नहर से बाहर निकले। 2 साल पहले भी यहां 3 कार नहर में गिर चुकी है। कार में सवार 2 निजी कंपनियों के प्रबंधक भाइयों ने कार का पीछे का शीशा तोड़कर बाहर निकलकर जान बचाई। बड़े ने उसको कड़ी मशक्कत से बाहर निकाला। ये हादसा जीरो दृश्यता, नहर किनारे रिफलेक्टर, रेलिंग और कोई सूचकांक न होने के कारण हुआ है। धुंध में कार सवारों को नहर दिखाई नहीं दी। जैसे ही कार चालक ने ब्रेक लगाए कार फिसलते हुए नहर में जा गिरी। इन्होंने बाहर निकलकर डायल 112 पर कॉल कर हादसे की सूचना दी। पुलिस ने कार सवारों के बयान दर्ज किए और 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद कार को नहर से बाहर निकाला। सिवाह गांव के पास जब उन्होंने रोहतक बाईपास पर चढ़ने के लिए कार मोड़ी तो उन्हें धुंध में कुछ दिखाई नहीं दिया। यहां पर न तो किसी प्रकार के रिफलेक्टर थे और न रेलिंग व सूचकांक। जब ही उसने ब्रेक लगाए कार फिसलकर नहर में गिर गई। उसने सीट बेल्ट खोलकर अपनी बेल्ट के हुक से कार का पीछे वाला शीशा तोड़ा और दोनों भाई कार से बाहर आए। उसने तैर कर अपने छोटे भाई को भी बाहर निकाला। कार नहर में बह गई। उन्होंने बाहर आकर पुलिस व परिजनों को इसकी सूचना दी। 15 मिनट बाद पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों ने यहां पहुंचकर उनके गीले कपड़े बदलवाए।

Read also: कोरोना से होने वाली मौतों ने बढ़ाई चिंता; देश में 1 दिन में 3 की मौत, 180 संक्रमित

3 गाड़ियां यहां गिर चुकी है-
सिवाह गांव के पास नहर किनारे रेलिंग व सूचकांक नहीं है। धुंध में नहर दिखाई नहीं देती। जैसे ही वाहन चालक रिफाइनरी बाइपास से रोहतक बाइपास पर चढ़ने के लिए वाहन मोड़ते है, तो उनके नहर में गिरने का भय बढ़ जाता है। यहां किसान आंदोलन में कैथल किसानों की कार भी गिर गई थी। इसमें 2 युवकों की मौत हो गई थी। 2022 में एक और कार चालक की ऐसे ही मौत हो गई थी।

Car fell into canal in zero visibility

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -spot_img