Loading...

नीला पायजामा हुआ दागदार ,अकाली नेता व् पूर्व मंत्री लंगाह ने किया ज़बर जिनाह

महिला के साथ नंग धडंग हालत में  पकड़ा पूर्व मंत्री नंगाह

चंडीगढ़ (पी एन टी न्यूज़ डेस्क) : अकाली दल के कद्दावर नेता, पूर्व मंत्री और एसजीपीसी मेंबर सुच्चा सिंह लंगाह (65) पर एक महिला ने रेप करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस संबंध में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इस बीच लंगाह लीला  का एक वीडियो भी वायरल हो गया है जिसमें वे एक महिला के साथ  में दिखाई दे रहा है ।

विजिलेंस डिपार्टमेंट में क्लर्क के तौर पर काम कर रही महिला ने 28 सितंबर को गुरदासपुर के एसएसपी को वीडियो क्लिप और एक पेनड्राइव के साथ एफिडेविट सौंपा है।- गुरदासपुर के गांव सोहल की रहने वाली यह महिला खुद को सुच्चा सिंह लंगाह की बेटी की क्लासमेट बताती है। इसका आरोप है कि सुच्चा सिंह 2009 से अब तक कई बार रेप कर चुका  है। एसएसपी हरचरण सिंह भुल्लर का कहना है कि 28 सितंबर को शिकायत मिलते ही उन्होंने टीम बनाकर जांच कराई। पुलिस ने महिला की शिकायत पर 29 सितंबर को सुच्चा सिंह पर रेप, धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज कर लिया है। इसके बाद से ही सुच्चा सिंह फरार है । मेडिकल कराने के साथ ही पीड़ितस  के धारा 164 में बयान करवा लिए गए हैं।
सुच्चा सिंह गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव में डेरा बाबा नानक विधानसभा हलके से अकाली दल का  इलेक्शन इंचार्ज भी है।
पीड़िता ने सुच्चा सिंह को भी दिखाया था वीडियो…
पीड़ित महिला ने एफआईआर कराने से 12 दिन पहले सुच्चा सिंह लंगाह से मिलकर चेतावनी दी थी कि अगर उसकी ज्यादतियां नहीं रुकी तो वह पुलिस के पास जाएगी। यह बात खुद पीड़िता ने पुलिस को बताई है . सुच्चा सिंह ने इस पर कहा था कि उसकी पहुंच ऊपर तक है और वह उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती। इसके बाद पीड़िता पुलिस के पास गई।
  • 100 करोड़ से अधिक की प्रॉपर्टी, 2002 में मंत्री बनने से पहले सिर्फ 16 कनाल जमीन…
    – सुच्चा सिंह के पास 100 करोड़ रुपए से अधिक की प्रॉपर्टी है। पीडब्ल्यूडी मंत्री बनने से पहले उसके पास सिर्फ 16 कनाल (करीब 4 बीघा) जमीन थी। यह जमीन उसके पैतृक गांव लंगाह में है।
    – आय से अधिक संपत्ति के मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के वक्त 16 मई 2002 को पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने सुच्चा सिंह पर मामला दर्ज किया था।
    – सुच्चा सिंह पर पीडब्ल्यूडी मंत्री रहते हुए 12.10 करोड़ रुपए रिश्वत लेने का आरोप था। इस मामले में 1 फरवरी 2015 को मोहाली कोर्ट ने सुच्चा सिंह को 3 साल की जेल और 1.10 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया था। हालांकि जनवरी 2017 में सुच्चा सिंह इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से बरी हो गया  था ।
    – आज धारीवाल में उसकी 73 दुकानें, दियोल ट्रांसपोर्ट कंपनी, मुंबई की एक शिपिंग कंपनी में हिस्सेदारी, धारकलां तहसील के गांव सुकरेत में 80 एकड़ जमीन, चंडीगढ़ में 3 कोठियां, पेट्रोल पंप के अलावा दिल्ली के मेहरौली और यूपी के पीलीभीत में जमीन है। जाहिर है कि इतनी सम्पति एक नम्बर से तो आने से रही .

Newsletter

Get our products/news earlier than others, let’s get in touch.