Loading...

नोटबंदी का सोशल मीडिया पर कड़ा विरोध

नोटबंदी के नाम पर बड़ी बड़ी कम्पनीयों को फ़ायदा

चंडीगढ़ (पी एन टी ब्युरो) : नोटबंदी शुरू होने के बाद से ही प्रधानमंत्री नरेंद मोदी की भारत की इकनॉमी को कैश लेस बनाने की योजना का विशेषज्ञों दोबारा विश्लेषण किया जा रहा है. इसके फ़ायदे और नुक़सान के बारे में तरह तरह के तर्क दिए जा रहे है. लोग सोशल मीडिया पर तरह तरह की पोस्ट डाल कर लोगों तक अपनी बात पहुँचाने की कोशिश कर रहे है. भारत के एक तबके का मानना है कि मोदी जी बड़ी बड़ी कम्पनीयों को फ़ायदा पहुँचाने के लिए ये सब कर रहे है और ये काफ़ी हद तक सही भी लगता है. सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद मोदी का विरोध कहीं ना कहीं ये दर्शाता है कि लोगों पर नोटबंदी के बाद परेशानी की कैसी मार पड़ रही है, सरकार भले नोट बंदी के फैसले के बाद अब तक ये दावे करती आई हो कि देश का ज्यादातर नागरिक उनके फैसले के साथ है, लेकिन सोशल मीडिया पर लोगों ने जिस तरह से नोट बंदी का विरोध किया है उससे विपक्ष को सरकार को घेरने का एक और मौका मिल सकता है।

Newsletter

Get our products/news earlier than others, let’s get in touch.