Loading...

कलयुग की मीरा है बाबा श्याम की लाडली आरती टाक

ना धूप ना छांव नंगे पैर… बस एक ही मकसद बाबा श्याम के दर्शन 

खाटूधाम (पीएनटी न्यूज़ डेस्क) : कलयुग के अवतार खाटू के नरेश शीश के दानी श्याम बाबा का डंका चारों तरफ गूँज रहा है. देश विदेश से भक्त बाबा श्याम के दर्शन पाने खाटूधाम में आते है . कुछ भक्त रींगस से खाटूजी तक पैदल चल कर श्री श्याम बाबा के धवजा (निशान) बाबा के चरणों में चढाते है.

ऐसी ही एक श्याम भक्त, बाबा श्याम की लाडली अजमेर निवासी आरती टाक ने श्याम बाबा को रिझाने के लिए 108 दिन में लगातार दो व तीन पैदल यात्रा कर रविवार 17 मार्च 2019 तक 3351 धवज (निशान) श्याम बाबा को अर्पित किये. आरती टाक ने बताया कि 19 नवम्बर को बाबा श्याम के जन्मदिन पर मैंने 108 दिन में पैदल यात्रा कर 3351 धवज (निशान) श्याम बाबा को अर्पित करने का संकल्प लिया था जो अब पूरा हो गया है. आरती टाक ने बताया कि इस संकल्प को पूरा करने के लिए मैंने एक दिन में दो व कई वार तीन- तीन पैदल यात्राएं भी की. आरती टाक एक  बार में 31 धवज (निशान) लेकर चलती थी. अब तक आरती टाक 6500 धवज (निशान) बाबा के श्री चरणों में अर्पित कर चुकी है.

देश भर के श्याम भक्तों में श्याम दीवानी के नाम से जानी जाने वाली, बाबा श्याम की लाडली आरती टाक को लोग कलयुग की मीरा भी कहने लगे हैं. धूप हो या छाव, आँधी हो या तुफान, रोजाना 2 बार 17 किलोमीटर नंगे पांव पैदल जाना बस एक ही मकसद, एक ही ज़िद कि बाबा श्याम का दर्शन पाना है.

कुछ समय पहले तक अनजान आरती टाक अब श्याम भक्तों की आस्था का केंद्र बन गई है. स्थिति यह है कि रींगस से खाटूजी जाने वाला हर यात्री यह सोचता है कि काश रास्ते में आरती मिल जाए तो उनकी यात्रा सफल हो जाए. लगता है आरती का जन्म बाबा श्याम की भक्ति के लिए ही हुआ है.

Newsletter

Get our products/news earlier than others, let’s get in touch.